कंट्रोलर पर्सनल सर्विसेज (सीपीएस)

वाइस एडमिरल एसएन घोरमड़े, एवीएसएम, एनएम

Director General of Naval Operationsवाइस एडमिरल एसएन घोरमड़े, एवीएसएम, एनएम, नौपरिवहन और दिशानिर्देश के विशेषज्ञ 01 जनवरी 1984 को भारतीय नौसेना में शामिल हुए थे। वे राष्ट्रीय रक्षा अकादमी (एनडीए), खड़कवासला, यूनाइटेड स्टेट्स नेवल वॉर कॉलेज, न्यूपोर्ट, रोड आइलैंड में नेवल स्टाफ कॉलेज, और नेवल वार कॉलेज, मुंबई से स्नातक हैं।

उन्होंने सर्वश्रेष्ठ नेवल कैडेट गोल्ड मेडल, वाइस एडमिरल एके चटर्जी ट्रॉफी, एनडीए में कैप्टन बीडी नायडू शील्ड, सर्वश्रेष्ठ ऑल राउंड कैडेट के लिए ‘बिनोकुलर्स’, कैडेट प्रशिक्षण पोत भा नौ पो मैसूर में सीमैनशिप और इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग में प्रथम, सब लेफ्टिनेंट टेक्निकल पाठ्यक्रमों की समाप्ति पर पाठ्यक्रम में मेधासूची में प्रथम, नौपरिवहन और दिशानिर्देश के विशेष पाठ्यक्रम में द्वितीय, नेवल वार कॉलेज, रोड आईलैंड में यूनाइटेड स्टेट्स नेवल स्टाफ कॉलेज में विशेष प्रतिष्ठा और नेवल वार कॉलेज में नेवल हायर कमांड कोर्स में सी-इन-सी सिल्वर मेडल प्राप्त किया है। उन्होंने मुंबई विश्वविद्यालय से रक्षा और युद्धनीति अध्ययन में एमफिल, मद्रास विश्वविद्यालय से रक्षा और युद्धनीति अध्ययन में एमएससी और सिंबोसिस इंस्टीच्यूट ऑफ बिजनेस मैनेजमेंट, पूणे विश्वविद्यालय से पर्सनल मैनेजमेंट में मास्टर डिग्री भी हासिल की है।

36 साल से अधिक के अपने कार्यकाल में, उन्होंने परिचालानात्मक और कर्मचारी नियुक्ति के कई पदों को संभाला है। उनकी महत्वपूर्ण परिचालानात्मक नियुक्तियों में गाइडेड मिसाइल फ्रिगेट भा नौ पो ब्रह्मपुत्रा, सबमरीन बचाव पोत भा नौ पो निरीक्षक, और माइनस्वीपर भा नौ पो अल्लेपेय की कमान और गाइडेड मिसाइल फ्रिगेट भा नौ पो गंगा की सेकंड-इन-कमान शामिल हैं।

उनकी महत्वपूर्ण कमर्चारी नियुक्तियों में प्रिंसिपल डायरेक्टर ऑफ पर्सनल, डायरेक्टर नेवल प्लानस और अलग असाइनमेंट के रूप में नौसैनिक मुख्यालय में ज्वाइंट डायरेक्टर नेवल प्लानस, विदेश मंत्रालय में डायरेक्टर (सैन्य मामले), लोकल वर्कअप टीम (वेस्ट) और नेविगेशन डायरेक्शन स्कूल और राष्ट्रीय रक्षा अकादमी के इंस्ट्रक्टर शामिल हैं।

ध्वजाधिकारी के तौर पर, कंट्रोलर पर्सनल सर्विसेज के वर्तमान पद को संभालने से पहले अधिकारी असिस्टेंट चीफ ऑफ पर्सनल (मानव संसाधन विकास), ध्वजाधिकारी कमांडिंग कर्नाटक नेवल एरिया, ध्वजाधिकारी कमांडिंग महाराष्ट्र नेवल एरिया, डायरेक्टर जनरल नेवल ऑपरेशंस और चीफ ऑफ स्टाफ पूर्वी नौसेना कमान के पद पर नियुक्त हो चुके हैं।

ध्वजाधिकारी को भारत के राष्ट्रपति द्वारा 26 जनवरी 2017 को अति विशिष्ट सेवा मेडल और 2007 में नौसेना मेडल और 2000 में नौसेनाध्यक्ष प्रशस्ति से पुरस्कृत किया गया था । उन्हें पढ़ना, पर्वतारोहण, घुड़सवारी और जल क्रीड़ा बहुत पसंद है।

Back to Top