नियम एवं शर्तें

उपयोग की ये शर्तें इस वेबसाइट, कंटेंट और सेवाओं के उपयोग को भारतीय नौसेना। ('साइट') के जरिये पेश की जाती हैं। आप (उपयोगकर्ता) 'साइट' तक पहुंचने के लिए सहमत हैं, यहां पर निर्धारित नियमों और शर्तों के अनुसार।

एनपीओ समय-समय पर पूरी तरह से अपने विवेकाधिकार पर इन 'उपयोग की शर्तों' को जोड़ या बदल सकता है या अपडेट कर सकता है। इन शर्तों के अनुपालन में रहने के लिए आप समय-समय पर इन 'उपयोग की शर्तों' को जांचने के लिए जिम्मेदार हैं। 'उपयोग की शर्तें' के किसी भी संशोधन के बाद एक साइट का आपका उपयोग इन नियमों की स्वीकृति का गठन करेगा और आप ऐसे किसी भी परिवर्तन / संशोधन से भी बाध्य होने के लिए सहमत हैं।

यह वेबसाइट भारतीय नौसेना की आधिकारिक वेबसाइट है और आम जनता को सूचना का प्रसार करने के लिए विकसित की गई है। हालांकि इस वेबसाइट पर सामग्री की सटीकता और शुद्धता सुनिश्चित करने के लिए सभी प्रयास किए गए हैं, हालांकि इसे कानून के एक बयान के रूप में नहीं समझा जाना चाहिए या किसी कानूनी उद्देश्यों के लिए उपयोग नहीं किया जाना चाहिए।

  • भारतीय नौसेना वेबसाइट से पूर्व सूचना के बिना वेब सामग्री परिवर्तन के अधीन हैं।
  • किसी भी घटना में भारतीय नौसेना किसी भी व्यय, हानि या क्षति के लिए उत्तरदायी, अप्रत्यक्ष या परिणामी हानि या क्षति, या किसी भी व्यय, हानि या नुकसान से उत्पन्न होने वाली जो भी हो, या डेटा के उपयोग की हानि के लिए जिम्मेदार नही होगा या इस वेबसाइट के उपयोग के संबंध में। अधिनियम, नियम, विनियम, पॉलिसी वक्तव्य आदि के बारे में वेबसाइट पर जो कुछ भी उत्पादित किया गया है, संबंधित विभागों के साथ संबंधित प्रासंगिक नियम, नियम, विनियम, पॉलिसी वक्तव्य आदि में शामिल होने के बाद उत्तरार्द्ध प्रबल होगा।
  • इस वेबसाइट पर शामिल अन्य वेबसाइटों के लिंक केवल सार्वजनिक सुविधा के लिए उपलब्ध कराए जाते हैं। एनपीओ लिंक्ड वेबसाइटों की सामग्रियों या विश्वसनीयता के लिए ज़िम्मेदार नहीं है और जरूरी नहीं कि उनके भीतर व्यक्त किए गए विचारों का समर्थन करता है। एनपीओ हर समय ऐसे लिंक किए गए पृष्ठों की उपलब्धता की गारंटी नहीं देता है।
  • इस वेबसाइट पर विशेष रुप से प्रदर्शित सामग्री को मुफ्त में पुन: प्रस्तुत किया जा सकता है। हालांकि, सामग्री का पुन: सटीक रूप से पुन: प्रस्तुत किया जाना चाहिए और किसी अपमानजनक तरीके से या भ्रामक संदर्भ में उपयोग नहीं किया जाना चाहिए। जहाँ भी सामग्री प्रकाशित की जा रही है या दूसरों को जारी की जाती है, स्रोत को प्रमुख रूप से स्वीकार किया जाना चाहिए। हालांकि, इस सामग्री को पुन: पेश करने की अनुमति किसी भी सामग्री तक नहीं बढ़ेगी जो कि किसी तीसरे पक्ष के कॉपीराइट के रूप में पहचानी गई है। साइट-सामग्री की सच्चाई और स्वामित्व के बारे में संदेह के मामले में, जिसका उपयोग करना है, एनपीओ की पूर्व अनुमति / प्राधिकरण या एनपीओ के संबंधित विभाग या तीसरे पक्ष के कॉपीराइट धारक को प्राप्त करना होगा।
  • इन नियमों और शर्तों को भारतीय कानूनों के अनुसार नियंत्रित किया जाएगा। इन नियमों और शर्तों के तहत उत्पन्न कोई भी विवाद भारत की अदालतों के अनन्य क्षेत्राधिकार के अधीन होगा।
हिन्दी
शीर्ष पर वापस जाएं