फ्लैग ऑफिसर कमांडिंग इन चीफ,पश्चिमी नौसेना कमान

वाइस एडमिरल आर हरी कुमार, पीवीएसएम, एवीएसएम, वीएसएम

फ्लैग ऑफिसर कमांडिंग इन चीफ,पश्चिमी नौसेना कमान

वाइस एडमिरल आर हरी कुमार, पीवीएसएम, एवीएसएम, वीएसएम प्रतिष्ठित राष्ट्रीय रक्षा अकादमी, खड़कवासला के भूतपूर्व छात्र हैं। उन्हें 01 जनवरी 1983 को भारतीय नौसेना में कमीशन किया गया था।

अपने 38 वर्ष लंबे करियर में, उनहोंने कोस्ट गार्ड शिप सी-01, भा नौ पो निशंक, कोरा, रणवीर और विमान वाहक भा नौ पो विराट का नेतृत्व किया है। एक गनरी स्पेशलिस्ट के तौर पर, उन्होंने पश्चिमी बेड़े के फ्लीट ऑपरेशन्स ऑफिसर और फ्लीट गनरी ऑफिसर, भा नौ पो विपुल के ईएक्सओ, भा नौ पो रणजीत के जीओ, भा नौ पो कुठार के जीओ और भा नौ पो रणवीर के कमीशनिंग जीओ VIII सहित स्पेशलिस्ट के रूप में अनेक नियुक्तियों को निभाया है। उन्होंने अपतटीय नियुक्तियों के तौर पर एचक्यूडबल्यूएनसी के गनरी ऑफिसर, सेशेल्स सरकार के नौसेना सलाहकार, मोगादिशु में सोमालिया (यूएनओएसओएम II) में यूएन मिशन और भा नौ पो द्रोणाचार्य के ट्रेनिंग कमांडर की भूमिका निभाई है। उन्होंने फ्लैग नियुक्तियों के तौर पर गोवा में नेवल वॉर कॉलेज के कमांडेंट, फ्लैग ऑफिसर सी ट्रेनिंग, फ्लैग ऑफिसर कमांडिंग वेस्टर्न फ्लीट, स्टाफ अध्यक्ष, पश्चिमी नौसेना कमान, कंट्रोलर पर्सनल सर्विसेज़ और नौसेना मुख्यालय में कार्मिक अध्यक्ष की भूमिका निभाई है। फ्लैग ऑफिसर कमांडिंग-इन-चीफ, पश्चिमी नौसेना कमान के तौर पर कार्यभार संभालने से पहले, वाइस एडमिरल आर हरी कुमार डिफेंस स्टाफ अध्यक्ष (सीडीएस)/ सचिव सैन्य मामला विभाग (डीएमए) संस्था के गठन के बाद पहले वीसीडीएस थे जहां उन्होंने उसकी स्थापना और संचालन में मुख्य भूमिका निभाई थी।

उन्होंने 1996 में नेवल वॉर कॉलेज, रोड आईलैंड में यूएस नेवल स्टाफ कोर्स, 2004 में एडबल्यूसी, एमहाऊ में आर्मी हायर कमांड कोर्स और 2009 में डिफेंस स्टडीज़, लंदन के रॉयल कॉलेज में भाग लिया। उनके पास जेएनयू से बी.एससी. की उपाधि, किंग्स कॉलेज, लंदन से एमए (इंटरनेशनल स्टडीज़) में उपाधि, मुंबई विश्वविद्यालय से एमफिल (डिफेंस और स्ट्रेटजिक स्टडीज़) में उपाधि और नरोत्तम मोरारजी इंस्टीट्यूट ऑफ शिपिंग, मुंबई से शिपिंग प्रबंधन में पीजी डिप्लोमा उपाधि प्राप्त की है।

उन्हें 2010 में विशिष्ट सेवा मेडल, 2016 में अतिविशिष्ट सेवा मेडल और 2021 में परम विशिष्ट सेवा मेडल से सम्मानित किया गया था।

Back to Top