युद्धपोत उत्पादन और अधिग्रहण नियंत्रक (सी डब्ल्यू पी एंड ए)

वाइस एडमिरल एके सक्सेना, पीवीएसएम, एवीएसएम, वीएसएम

युद्धपोत उत्पादन और अधिग्रहण नियंत्रक (सी डब्ल्यू पी एंड ए)

31 अक्टूबर 2018 को वाइस एडमिरल एके सक्सेना, पीवीएसएम, एवीएसएम, वीएसएम ने वारशिप प्रोडक्शन एंड एक्विजिशन के नियंत्रक का कार्यभार संभाला। वे उस्मानिया विश्वविद्यालय, हैदराबाद से इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग में अपने बैचलर की डिग्री प्राप्त करने के बाद 17 अगस्त 1981 को यूनिवर्सिटी एंट्री स्कीम के अंतर्गत भारतीय नौसेना की इलेक्ट्रिकल शाखा में शामिल हुए। भारतीय नौसेना में अपने शानदार करियर के दौरान, एडमिरल ने विभिन्न पदों पर ऑनबोर्ड भा नौ पो हिमगिरी, उदयगिरी और दिल्ली में कार्य किया। उन्होंने विजाग और मुंबई में स्थित नौसेना डॉकयार्ड तथा नौसेना मुख्यालय, नई दिल्ली में कार्य किया, जिसमें उन्होंने मटेरियल शाखा में विद्युत से जुड़ी समस्याओं को संभाला।

फ्लैग ऑफिसर बनने के बाद, एडमिरल ने एडिशनल डीडीक्यूए(एन) के रूप में, नौसेना डॉकयार्ड, विशाखापत्तनम, सीएसओ (टेक)/डब्ल्यूएनसी के एडमिरल सुपरिटेंडेंट डॉकयार्ड के रूप में और वर्तमान नियुक्ति से पहले मुंबई में महानिदेशक नौसेना परियोजनाओं के रूप में कार्य किया। एडमिरल ने नई दिल्ली में सीनियर रैंकिंग मिलिट्री ऑफिसर और ब्यूरोक्राट्स के लिए नेवल हायर कमांड कोर्स और नेशनल डिफेंस कॉलेज कोर्स शुरू किया है।

एडमिरल को दो अवसरों पर नौसेनाध्यक्ष द्वारा सम्मनित किया गया और उनकी विशिष्ट सेवा के लिए उन्हें परम विशिष्ट सेवा मेडल, अति विशिष्ट सेवा मेडल और विशिष्ट सेवा मेडल दिया गया।

वारशिप प्रोडक्शन एंड एक्विजिशन के नियंत्रक के रूप में, फ्लैग ऑफिसर भारतीय और विदेशी दोनों ही शिपयार्ड से भारतीय नौसेना के लिए वारशिप और सबमरीन के कंस्ट्रक्शन और एक्विजिशन से संबंधित सभी पहलुओं के प्रभारी हैं।

एडमिरल एक गोल्फ खिलाड़ी हैं। उन्होंने श्रीमती अल्पना सक्सेना से विवाह किया है और उनके दो बेटे (अंकुर और अनुज) हैं।

Back to Top