दक्षिणी नौसेना कमान ने दूसरे एविएशन इनोवेशन एक्सपोजिशन कम वर्कशॉप की मेजबानी की

दक्षिणी नौसेना कमान ने दूसरे एविएशन इनोवेशन एक्सपोजिशन कम वर्कशॉप की मेजबानी की

तीन दिवसीय एविएशन इनोवेशन एक्सपोजिशन कम वर्कशॉप का उद्घाटन वाईस एडमिरल एआर कर्वे, पीवीएसएम, एवीएसएम, फ्लैग ऑफिसर कमांडिंग इन चीफ (एफओसी-इन-सी), दक्षिणी नौसेना कमान (एसएनसी) ने 11 जुलाई 2018 को नौसेना बेस, कोच्चि में किया।  एयरोनॉटिकल सोसाइटी ऑफ इंडिया (एएसआईआई) और सोसाइटी ऑफ इंडियन एयरोस्पेस टेक्नोलॉजीज एंड इंडस्ट्रीज (एसआईएटीआई) के समन्वय से “आईएनएनओईएक्स-18” नामक प्रदर्शनी का आयोजन नेवल एयरक्राफ्ट यार्ड, कोच्चि में किया गया और यह 13 जुलाई 18 तक जारी रहेगा।

वर्कशॉप के पहले दिन, जब प्रदर्शनी का उद्घाटन हुआ था, प्रसिद्ध एयरोस्पेस पेशेवरों और शिक्षाविदों ने अपने अनुभव एसएनसी के युवा वैमानिकी पेशेवरों के साथ साझा किए, इनमें डॉ. सीजी कृष्णादास नायर, पद्मश्री, अध्यक्ष एसआईएटीआई, डॉ आरके त्यागी, अध्यक्ष एईएसआई, डॉ टेस्सी थॉमस, डीआरडीओ के डीजी (एरो) और नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ एडवांस स्टडीज (एनआईएएस) के प्रोफेसर एसएस मंथ शामिल थे। इस अवसर पर संबोधित करते हुए, वाईस एडमिरल एआर कर्वे ने प्रतिनिधियों का स्वागत किया और सभी मौजूदा और संभावित उद्योग भागीदारों को आने वाले समय में नौसेना विमानन बेड़े के 150 से 450 तक होने के बारे में बताया और यह भी बताया कि माइक्रो, स्मॉल एंड मीडियम इंटरप्राइजेज (एमएसएमई) ने इस बड़े अवसर को प्रदान करने के लिए विशेष योगदान दिया है। उन्होंने आशा व्यक्त की कि एक्सपो द्वारा प्रदान किया गया अवसर नौसेना के विमानन और उद्योग को एक-दूसरे को बेहतर से समझने में मदद करेगा ताकि हम अधिक सक्षम स्वदेशी विमानन औद्योगिक पारिस्थितिकी तंत्र की ओर बढ़ सके।

प्रदर्शनी, जिसमें 18 फर्मों के 20 स्टाल शामिल थे, ने सात प्रमुख स्वदेशी विमानन हितधारकों, जिनके नाम हैं इंडियन एयर फ़ोर्स, आईएसआररो, डीआरडीओ के एरो क्लस्टर लैब, एयर इंडिया, पवन हंस लिमिटेड, के साथ-साथ अकादमिक और उद्योग के सदस्यों एक जगह इकठ्ठा किया है । अंतिम उपयोगकर्ताओं को अपनी उत्पाद लाइन और क्षमताओं के बारे में बातचीत करने और प्रदर्शित करने के उद्देश्य से एमएसएमई के लिए व्यवस्था भी की गई थी। इसका उद्देश्य सभी हितधारकों के लिए सहकारी उत्पादन के लिए अपने सामूहिक संसाधनों और विशेषज्ञता को एक जगह लाना था। प्रदर्शनी ने स्वदेशी विकल्प की पहचान करने, स्वदेशीकरण को बढ़ावा देने और उत्पाद समर्थन प्रदान करने के लिए एमएसएमई के कप्तानों के लिए वास्तविक अप्रचलित वस्तुओं और प्रणालियों को भी प्रदर्शित किया।

इसके अलावा, वर्कशॉप के दौरान मौजूद इंडियन आर्म्ड फोर्सेज और अकाउंट सर्विसेज के वरिष्ठ अधिकारियों ने सभी स्पेक्ट्रम में स्वदेशीकरण पर मूल्यवान इनपुट प्रदान किए। वर्कशॉप के अगले दो दिनों के लिए विशिष्ट वक्ताओं में श्री एस सोमनाथ, निदेशक विक्रम साराभाई स्पेस सेंटर (वीएसएससी), श्री सेंथिल कुमार, क्षेत्रीय निदेशक, अपरेंटिस ट्रेनिंग के क्षेत्रीय निदेशालय और उद्योग गुरु श्री अनंत अग्रस्थ शामिल रहें।

  • https://www.indiannavy.nic.in/
  • https://www.indiannavy.nic.in/
  • https://www.indiannavy.nic.in/
  • https://www.indiannavy.nic.in/
  • https://www.indiannavy.nic.in/
  • https://www.indiannavy.nic.in/
  • https://www.indiannavy.nic.in/
  • https://www.indiannavy.nic.in/
  • http://india.gov.in, The National Portal of India : External website that opens in a new window
  • Ministry of Defence, Government of India : External website that opens in a new window
  • My Government, Government of India : External website that opens in a new window
  • https://www.indiainvestmentgrid.com : External website that opens in a new window
  • https://gandhi.gov.in, Gandhi : External website that opens in a new window
  • STQC_logo
Back to Top