पश्चिमी बेड़े (डब्ल्यूएफ) की विदेश में तैनाती (ओएसडी)

पश्चिमी बेड़े (डब्ल्यूएफ) की विदेश में तैनाती (ओएसडी)

पश्चिमी बेड़े के जहाजों को, जिसमें रिअर एडमिरल, पश्चिमी बेड़े के कमांडर, आरबी पंडित के आरोहण के साथ मुंबई, त्रिशूल, तरकश और आदित्य शामिल थे, 05 अप्रैल से 14 जुलाई 2017 तक ओएसडी के लिए विदेश में तैनात किया गया था। विदेश तैनाती की मुख्य विशेषताएं नीचे दी गई हैं:-

(a) मुंबई, त्रिशूल, तरकश और आदित्य सहित पश्चिमी बेड़े के जहाजों ने सौदा की खाड़ी, ग्रीस का दौरा किया और हेलेनिक (यूनानी) नौसेना के साथ अभ्यास किया। मुंबई, त्रिशूल और आदित्य ने 27 मई 2017 को मुंबई पहुंचने से पहले तौलून (फ्रांस), वालेंसिया (स्पेन), अलेक्जेंड्रिया (मिस्र), हैफा (इज़राइल) और जेद्दाह (सऊदी अरब) का दौरा भी किया। जहाजों ने फ़्रांसिसी नौसेना के साथ अभ्यास-वरुण में भी भाग लिया

पश्चिमी बेड़े (डब्ल्यूएफ) की विदेश में तैनाती (ओएसडी)

आईएनएस त्रिशूल हाइफा बंदरगाह में प्रवेश करता हुआ

पश्चिमी बेड़े (डब्ल्यूएफ) की विदेश में तैनाती (ओएसडी)

तरकश नाइजीरिया की नौसेना के जहाजों यूनिटी और सेंचुरी के साथ अभ्यास करते हुए

(b) पश्चिमी बेड़े के विदेश तैनाती के हिस्से के रूप में, भारतीय नौसेना के जहाज तरकश ने ब्रिटेन, पुर्तगाल, मोरक्को, नाइजीरिया, अंगोला, नामीबिया, दक्षिण अफ्रीका और मॉरीशस के बंदरगाहों का दौरा किया। जहाज तीन महीने लम्बे विदेश तैनाती के बाद 14 जुलाई 2017 को मुंबई लौट आया, इस दौरे में जहाज ने विभिन्न नौसेनाओं के साथ अभ्यास किया और फ़्रांसिसी नौसेना के साथ (अभ्यास-वरुण) और शाही नौसेना (अभ्यास कोकण) के साथ उन्नत स्तर के द्विपक्षीय अभ्यास में भी भाग लिया।

Back to Top