गुफा अन्वेषण

भारतीय नौसेना इस साहसिक गतिविधि को संचालित करने और इसे पेशेवर तरीके से विकसित करने वाली देश की एकमात्र संस्था है। थल सेना एवं वायुसेना के पास गुफा क्षेत्रों में स्थाई पहुंच होने के बावजूद, उनके द्वारा इस क्षमता का विकास नहीं किया गया। नौसेना एकमात्र संगठन है, जिसके पास भारत की सभी गुफाओं के नक्शे का निर्माण करने एवं उसे बरकरार रखने की क्षमता है। इस गतिविधि के लिए नौसेना ने लगभग 20 कर्मियों को प्रशिक्षण दिया है, जिनमें से कुछ अधिकारी भी हैं। नौसेना आने वाले वर्षों में गुफा अन्वेषण के लिए अधिकाधिक संख्या में कर्मियों को शामिल करते हुए इसका अधिकतम लाभ उठाना चाहती है। मेघालय में मेघालय एडवेंचरर्स एसोसिएशन से हमें स्थानीय समर्थन मिलता है, लेकिन हमारे अभियानों में भाग लेने वाले नौसेना कर्मियों के पास एमएए के अधिकांश सदस्यों की तुलना में अधिक अनुभव हासिल है।

मेघालय एडवेंचरर एसोसिएशन की ओर से 01-28 फरवरी 10 को शिलांग में आयोजित अंतर्राष्ट्रीय गुफा अन्वेषण अभियान में दो अधिकारियों एवं आठ नाविकों की नौसेना की टीम ने भाग लिया। नौसेना दल ने पांच नई गुफाओं की खोज की और अभियान के दौरान लगभग 05 किलोमीटर की दूरी तय की गई।

Assessing & Reporting the Passage

रास्ते का आकलन एवं रिपोर्टिंग

 

Pages

Back to Top