वीर क्‍लास, अभय क्‍लास

भारतीय नौसेना के जहाज

कोर वेट्स

वीर क्‍लास

वीर श्रेणी के लड़ाकू जलपोत का अर्थ है 'बहादुर' जो भारतीय नौसेना के 22वें घातक मिसाइल पोत के स्क्वाड्रन के अंग हैं। इस श्रेणी के आठ जहाज ने अपना नाम शानदार 25वीं घातक मिसाइल नाव स्क्वाड्रन से पाया है, जिसने उनके नाम के अनुरुप, जो और और ऑपरेशन ट्राइडेंट और ऑपरेशन अजगर, 1971 के भारत-पाकिस्तान युद्ध के दौरान कराची में हमला किया और 2 विध्वंसक, एक सुरंग भेदी पोत विभिन्न अन्य जहाजों को तबाह कर दिया।

शिवालिक श्रेणी
नाम पताका संख्या समर्पण की तिथि
वीर के40 26 मार्च 1987
निर्भिक के 41 21 दिसंबर 1987
निपत के 42 05 दिसंबर 1988
निशानक के 43 12 दिसंबर 1989
निरघट के 44 15 दिसंबर 1989
विभूति के 45 03 जून 1991
विपुल के 46 16 मार्च 1992
विनाश के 47 20 नबबंर 1993
विद्युत के 48 16 जनवरी 1995
नाशक के 83 29 दिसंबर 1996
प्रलय के 91 18 दिसंबर 2002
प्रबल के 92 11 अपैल 2002

अभय क्‍लास

भारतीय नौसेना के अभय श्रेणी के लड़ाकू जलपोत सोवियत संघ के पॉक श्रेणी के लड़ाकू जलपोत का भारतीय संसकरण है। यह श्रेणी मुख्य रूप से तटीय गश्ती और पनडुब्बी रोधी युद्ध के लिए है।

अभय श्रेणी
नाम पताका संख्या समर्पण की तिथि
अभय पी 33 10 मार्च 1989
अजय पी 34 24 जनवरी 1990
अक्षय पी 35 10 दिसंबर 1990
अग्रे पी 36 30 जनवरी 1991

नोट:-: सभी जहाजों पर 'आईएनएस' उपसर्ग अंकित होना चाहिए, जिससे उनको 'आईएनएस' के साथ निर्दिष्ट उपनाम से संबोधित किया जा सके।

Back to Top