परम विशिष्ट सेवा पदक

Param Vishisht Seva Medal

प्राधिकार

राष्ट्रपति सचिवालय अधिसूचना संख्या 19-Pres/61 दिनांक 26 जनवरी, 60 तथा 31-राष्ट्र./67 दिनांक 19 जनवरी, 67.

पात्रता की शर्तें

सबसे असाधारण आदेश की विशिष्ट सेवा के लिए सम्मानित किया जाता है। यह सम्मान मरणोपरांत भी दिया जा सकता है।

पात्रों की श्रेणियाँ

सेना, नौसेना, वायुसेना के साथ-साथ प्रादेशिक सेना की टुकड़ियां अतिरिक्त सैन्य बल एवं रिजर्व बल (सम्मिलित किये जाने पर), अथवा विधि दवारा स्थापित किसी भी सशस्त्र बल के सभी रैंकों के सैनिक व अधिकारी। सशस्त्र सैन्य बलों में कार्यरत नर्सिंग अधिकारी तथा नर्सिंग सेवा से जुड़े अन्य सदस्य।

पदक और रिबन की बनावट

यह पदक गोलाकार होता है जिसका व्यास 35 मिमी होता है, और इसे नियत साज़-सामान के साथ एक सपाट क्षैतिज पट्टी में फिट किया जाता है। इस पदक पर सोने की परत चढ़ाई जाती है। इसके अग्र-भाग पर पाँच बिंदुओं वाला एक सितारा बना होता है, जबकि इसके पृष्ठभाग में राज्य-चिह्न तथा ऊपरी रिम के साथ उत्कीर्णन होता है।

पदक के लिए पट्टी : अगर किसी पदक प्राप्तकर्ता को एक बार फिर इस पदक से सम्मानित किया जाता है, तो इस प्रकार के प्रत्येक पुरस्कार के लिए उसे एक पट्टी से सम्मानित किया जाएगा, जिसे पदक से संलग्न रिबन से जोड़ा जाएगा। प्रत्येक पट्टी के लिए, सरकार द्वारा अनुमोदित प्रतिरूप के लघु प्रतीक चिह्न को रिबन में जोड़ा जाएगा।

Back to Top