ब्रह्मपुत्र क्‍लास, गोदावरी क्‍लास

भारतीय नौसेना के जहाज

फ्रिगेट

ब्रह्मपुत्र क्‍लास

ब्रह्मपुत्र श्रेणी के युद्धपोत, भारत में वकसित और निर्मित, भारतीय नौसेना के लिए निर्देशित मिसाइल युद्धपोत हैं। ये 3850 टन वजन ले जा सकते हैं और इसकी लंबाई 126 मीटर है। हालांकि इस तरह की पतवार और आंतरिक आयाम होते हैं, लेकिन ब्रह्मपुत्र और गोदावरी श्रेणी की विन्यास, और मारक क्षमता अलग होती है। इस जहाज श्रेणी ने 'नदी ब्रह्मपुत्र' के कारण अपना नाम रखा है। इस श्रेणी के अन्य जहाजों का नाम भी भारतीय नदियों के नाम पर रखा गया है।

ब्रह्मपुत्र श्रेणी
नाम पताका संख्या समर्पण की तिथि
ब्रह्मपुत्र एफ 31 14 अप्रैल 2000
व्यास एफ 37 11 जुलाई 2005
बेतवा एफ 39 14 अप्रैल 2000

गोदावरी क्‍लास

गोदावरी श्रेणी के युद्धपोत निर्देशित मिसाइल युद्धपोत हैं। गोदावरी वर्ग भारतीय नौसेना के पहल पर पहली महत्वपूर्ण स्वदेशी डिजाइन युद्धपोत थी। इसकी डिजाइन नीलगिरि वर्ग युद्धपोत का स्वदेशी संशोधित रुप है, जिसमें बड़े पतवार और अद्यतन अस्र-शस्र हैं। वर्ग और नेतृत्व जहाज आईएनएस गोदावरी, गोदावरी नदी के नाम पर रखा गयाहै। इसी श्रेणी के आगामी जहाज आईएनएस गंगा और आईएनएस गोमती भी भारतीय नदिये के नाम पर रखे गये हैं। आईएनएस गोमती सबसे पहला भारतीय नौसेना पोत था, जिसके युद्ध डेटा प्रणाली में डिजिटल इलेक्ट्रॉनिक्स है।

गोदावरी श्रेणी
नाम पताका संख्या समर्पण की तिथि
गोमती एफ 21 16 अप्रैल 1988
गंगा एफ 22 30 दिसंबर 1985

नोट:-: सभी जहाजों पर 'आईएनएस' उपसर्ग अंकित होना चाहिए, जिससे उनको 'आईएनएस' के साथ निर्दिष्ट उपनाम से संबोधित किया जा सके।

Back to Top