31वां आईएनडी-इंडो कॉर्पेट (भारत- इंडोनेशिया कॉर्पेट)

30वां आईएनडी-इंडो कॉर्पेट (भारत- इंडोनेशिया कॉर्पेट)

वर्ष 2002 से ही भारतीय नौसेना एवं इंडोनेशियाई नौसेना (टीएनआई एएल) द्वारा वर्ष में दो बार समन्वित गश्त (कॉर्पेट) का आयोजन किया जा रहा है। कॉर्पेट के साथ-साथ समुद्र में द्विपक्षीय अभ्यास का आयोजन भी किया जा रहा है। 24 अक्टूबर, 17 को बेलवान में उद्घाटन समारोह के साथ, 15 वर्षों के सहयोग को प्रदर्शित करने वाले इस कॉर्पेट के 30वें संस्करण की शुरुआत हुई। कॉर्पैट के हिस्से के रूप में, दोनों देशों की ओर से भाग लेने वाले युद्धपोतों एवं गश्ती विमानों ने 236 नॉटिकल मील लंबी अंतरराष्ट्रीय समुद्रिक सीमा रेखा के संबंधित पक्षों पर गश्त की। समापन समारोह के लिए, इंडोनेशियाई नौसेना के युद्धपोत केआरआई इमाम बोनजल (383) और इंडोनेशियाई समुद्री गश्ती विमान के साथ इंडोनेशियाई नौसेना के प्रतिनिधिमंडल 03 नवंबर, 17 को पोर्ट ब्लेयर पहुंचे। आगमन के उपरांत, कैप्टन नर्स्याल एंबुन, चीफ ऑफ स्टाफ, सी सिक्योरिटी टास्क फोर्स (वेस्टर्न फ्लीट कमांड) तथा अन्य इंडोनेशियाई अधिकारियों ने अंडमान व निकोबार कमान के चीफ ऑफ स्टाफ, मेजर जनरल पी. एस. साईं से औपचारिक मुलाकात की और स्मृति-चिह्न का आदान प्रदान किया।

31वां आईएनडी-इंडो कॉर्पेट (भारत- इंडोनेशिया कॉर्पेट)

31वां आईएनडी-इंडो कॉर्पेट (भारत- इंडोनेशिया कॉर्पेट)

पोर्ट ब्लेयर में प्रवास के दौरान, भारतीय नौसेना और इंडोनेशियाई नौसेना के बीच खेल गतिविधियों, युद्धपोतों की यात्राओं और पेशेवर स्तर की बातचीत सहित विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा।

31वां आईएनडी-इंडो कॉर्पेट (भारत- इंडोनेशिया कॉर्पेट)

31वां आईएनडी-इंडो कॉर्पेट (भारत- इंडोनेशिया कॉर्पेट)

Pages

Back to Top