31वां आईएनडी-इंडो कॉर्पेट (भारत- इंडोनेशिया कॉर्पेट)

32वां आईएनडी-इंडो कॉर्पेट (भारत- इंडोनेशिया कॉर्पेट)

32वें भारत-इंडोनेशिया समन्वित गश्त (सीओआरपीएटी) के लिए भारतीय नौसैना का पोत एवं एअरक्राफ्ट बेलावन इंडोनेशिया पहुँचा

11 -27 अक्टूबर 2018 तक होने वाले भारत-इंडोनेशिया के 32वें समन्वित गश्त के शुरूआती समारोह के लिए अंडमान और निकोबार कमांड से भारतीय नौसेना का एक कोरा श्रेणी का मिसाइल कॉर्वेट पोत कुलिश, तथा एक भारतीय डोर्नियर ( नौसेना का समुद्री समय गश्ती एअरक्राफ्ट) कमांडर दीपक बाली के नेतृत्व में इंडोनेशिया के बेलावन बंदरगाह पर पहुँचा। प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व कमोडोर आशुतोष रिधोरकर, नेवल कंपोनेंट कमांडर, अंडमान और निकोबार कमांड कर रहे हैं।

दोनों देशों के पोत तथा एअरक्राफ्ट 236 समुद्री मील लंबी अंतर्राष्ट्रीय समुद्री सीमा रेखा के संबंधित पक्षों पर गश्त शुरू करेंगे। गश्त तीन चरणों में 14 -24 अक्टूबर तक की जाएगी इसके बाद समापन समारोह पोर्ट ब्लेयर, अंडमान औऱ निकोबार द्वीप समूह में 25-26 अक्टूबर 2018 को निर्धारित किया गया है।

यात्रा दोनों देशों के बीच समुद्री क्षेत्र में अच्छी स्थिति सुनिश्चित करने, पारस्परिकता समेकित करने तथा मौजूदा मित्रता को और अधिक मजबूत करने के संबंध में भारत की शांतिपूर्ण मौजूदगी तथा मित्र राष्ट्रों के साथ एकजुटता पर जोर देने के लिए है। बेलावन में उनके प्रवास के दौरान विभिन्न गतिविधियों जैसे आधिकारिक कॉल, ऑनबोर्ड औपचारिक रिसेप्शन, दर्शकों को लिए पोत खोलना तथा पेशेवर बातचीत की योजना बनाई गयी है। हाल ही में अतीत में, हिंद महासागर क्षेत्र (आईओआर) की समुद्री चिंताओं पर ध्यान देने के लिए भारतीय नौसेना की परिसंपत्तियों की तैनाती में लगातार बढ़ोत्तरी हुई है।

इसके अलावा, माननीय प्रधानमंत्री की एसएजीएआर (क्षेत्र में सभी की सुरक्षा और विकास) की परिकल्पना के एक भाग के रूप में, भारतीय नौसेना को भी ईईजैड निगरानी, खोज और बचाव के साथ आईओआर में देशों की मदद करने, अन्य क्षमता- निर्माण तथा सक्षमता बढ़ोत्तरी गतिविधियों में शामिल किया गया है। मौजूदा तैनाती भारतीय नौसेना के समुद्र पार दोस्ती करने और पारस्परिकता कों समेकित करने के प्रयासों के लिए योगदान करेगी।

31वां आईएनडी-इंडो कॉर्पेट (भारत- इंडोनेशिया कॉर्पेट)

31वां आईएनडी-इंडो कॉर्पेट (भारत- इंडोनेशिया कॉर्पेट)

Pages

Back to Top