स्कूल/विद्यालय का वर्ष

183 आईजी का सारांश, दिनांक 18 मई 15

शैक्षणिक वर्ष 2015-16 को "स्कूल/विद्यालय का वर्ष" घोषित किया गया है। प्रभावी शिक्षण-अधिगम प्रक्रिया तथा समग्र विकास के लिए बुनियादी ढांचे, शैक्षणिक प्रदर्शन, खेल-कूद, सह-पाठ्यक्रमिक एवं पाठ्येतर गतिविधियों को बेहतर बनाने तथा शिक्षकों की पेशेवर विकास के संदर्भ में शिक्षा और विद्यालयी शिक्षण सुविधाओं पर सभी कमानों ने अधिक ध्यान दिया। केवी और संकल्प सहित सभी स्कूलों के लिए वास्तविक उपलब्धियों की प्राप्ति को ध्यान में रखते हुए सभी कमानों ने योजना तैयार की और अग्रसक्रियतापूर्वक कार्य प्रारंभ किया।

नेवी चिल्ड्रन स्कूल

सेवारत एवं सेवानिवृत्त नौसेना कर्मियों के बच्चों एवं परिवारों में शिक्षा, विज्ञान, संस्कृति, साहित्य और ललित कला को प्रोत्साहन देने के उद्देश्य से भारतीय नौसेना ने संस्था पंजीकरण अधिनियम XXI, 1860 के तहत नेवी एजुकेशन सोसाइटी का गठन किया। इस संस्था के अंतर्गत, अब तक नौसेना के विभिन्न स्टेशनों में आठ नेवी चिल्ड्रन स्कूल स्थापित किए गए हैं। केंद्रीय विद्यालयों का गठन मूलतः सेना एवं अर्धसैनिक बलों के कर्मचारियों के बच्चों की शैक्षिक आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए किया गया था। इन विद्यालयों में समान पाठ्यक्रम एवं माध्यम से शिक्षा प्रदान की जाती है। कालांतर में इस सुविधा का लाभ केंद्रीय एवं राज्य सरकार के कर्मचारियों को भी दिया जाने लगा। वर्तमान में पूरे देश में 1090 केवी मौजूद हैं, जिनमें से 31 केवी नौसेना के क्षेत्र में कार्यरत हैं।

नए केंद्रीय विद्यालय

भारतीय नौसेना के तीन आयामों, अर्थात जहाजों, पनडुब्बियों और विमानों के विस्तार के साथ-साथ विभिन्न स्थानों पर अतिरिक्त अवसंरचनाओं का भी निर्माण किया जाता है।

इसके परिणामस्वरूप, नौसेना के नए केंद्रों पर स्कूली शिक्षा की मांग भी बढ़ी है। इन स्थानों पर स्कूलों की बढ़ती मांग को पूरा करने के लिए, भारतीय नौसेना ने केवीएस के सहयोग से निम्नलिखित स्थानों पर केवी स्थापित करने का निर्णय लिया है :-

  • करवार, कर्नाटक में दो केवी
  • विशाखापट्टनम, आंध्र प्रदेश में दो केवी
  • रामनद, तमिलनाडु में एक केवी
  • पोरबंदर, गुजरात में एक केवी

2015 - स्कूल/विद्यालय का वर्ष

नौसेना में शिक्षा एवं शिक्षण सुविधाओं पर अधिक बल देने के उद्देश्य से शैक्षणिक वर्ष 2015-16 को "स्कूल/विद्यालय का वर्ष" घोषित किया गया है।

सभी नेवी चिल्ड्रन स्कूल से प्रभावी शिक्षण-अधिगम प्रक्रिया तथा समग्र विकास के लिए बुनियादी ढांचे, शैक्षणिक प्रदर्शन, खेल-कूद, सह-पाठ्यक्रमिक एवं पाठ्येतर गतिविधियों को बेहतर बनाने तथा शिक्षकों की पेशेवर विकास पर अधिक ध्यान देने का आग्रह किया गया। तदनुसार, सभी एनसीएस ने वास्तविक उपलब्धियों की प्राप्ति को ध्यान में रखते हुए उपयुक्त योजना तैयार की। इस दिशा में इन स्कूलों की कुछ प्रमुख गतिविधियों को अनुवर्ती पृष्ठों में सूचीबद्ध किया गया है, जो निम्नानुसार हैं।

  • http://india.gov.in, The National Portal of India : External website that opens in a new window
  • Ministry of Defence, Government of India : External website that opens in a new window
  • My Government, Government of India : External website that opens in a new window
  • https://www.indiainvestmentgrid.com : External website that opens in a new window
  • https://gandhi.gov.in, Gandhi : External website that opens in a new window
  • STQC_logo
Back to Top