सोमालिया के पूर्वी तट के साथ एक और समुद्री डकैती प्रयास को मिशन तैनात भारतीय नौसैनिक प्लेटफार्मों द्वारा त्वरित प्रतिक्रिया से विफल कर दिया गया

31 जनवरी 2024 को फिशिंग वेसल एफवी ओमारी पर पायरेसी प्रयास के बारे में जानकारी की निगरानी की गई थी। क्षेत्र में निगरानी कर रहे भारतीय नौसैनिक आरपीए ने सफलतापूर्वक एफवी ओमारी का पता लगाया और एंटी-पायरेसी मिशन के लिए तैनात भा.नौ.पो. शारदा को नाव को रोकने के लिए डायवर्ट किया गया।

एफवी ओमारी, एक ईरानी ध्वजांकित जहाज, को सात समुद्री डाकुओं ने बोर्ड किया था जिन्होंने चालक दल को बंधक बना लिया था।

भा.नौ.पो. शारदा ने 02 फरवरी 2024 की तड़के जहाज को रोका और अपने इंटीग्रल हेलो और नावों का उपयोग करके समुद्री डाकुओं को चालक दल के साथ-साथ जहाज के सुरक्षित विमोचन के लिए डाकुओं पर दबाव डाला।

जहाज ने नाव के साथ क्रू (11 ईरानी और 08 पाकिस्तानी नागरिक) सदस्यों की सफल रिहाई सुनिश्चित की है। जहाज ने एफवी ओमारी पर पुष्टिकारी बोर्डिंग भी की ताकि चालक दल की स्वास्थ्य जाँच की जा सके जिन्हें सोमाली समुद्री डाकुओं द्वारा बंधक बनाया गया था।

  • सोमालिया के पूर्वी तट के साथ एक और समुद्री डकैती प्रयास को मिशन तैनात भारतीय नौसैनिक प्लेटफार्मों द्वारा त्वरित प्रतिक्रिया से विफल कर दिया गया
  • सोमालिया के पूर्वी तट के साथ एक और समुद्री डकैती प्रयास को मिशन तैनात भारतीय नौसैनिक प्लेटफार्मों द्वारा त्वरित प्रतिक्रिया से विफल कर दिया गया
  • सोमालिया के पूर्वी तट के साथ एक और समुद्री डकैती प्रयास को मिशन तैनात भारतीय नौसैनिक प्लेटफार्मों द्वारा त्वरित प्रतिक्रिया से विफल कर दिया गया
  • सोमालिया के पूर्वी तट के साथ एक और समुद्री डकैती प्रयास को मिशन तैनात भारतीय नौसैनिक प्लेटफार्मों द्वारा त्वरित प्रतिक्रिया से विफल कर दिया गया
  • सोमालिया के पूर्वी तट के साथ एक और समुद्री डकैती प्रयास को मिशन तैनात भारतीय नौसैनिक प्लेटफार्मों द्वारा त्वरित प्रतिक्रिया से विफल कर दिया गया
  • सोमालिया के पूर्वी तट के साथ एक और समुद्री डकैती प्रयास को मिशन तैनात भारतीय नौसैनिक प्लेटफार्मों द्वारा त्वरित प्रतिक्रिया से विफल कर दिया गया
Back to Top