सेवारत कर्मियों के बच्चों के लिए मेधा छात्रवृत्ति

मेधा छात्रवृत्ति

(परिशिष्ट एफ़ के अनुरूप आवेदन)

सामान्य:- आईएनबीए की ओर से दी जाने वाली मेधा छात्रवृत्ति स्नातक की आरंभिक अवधि के लिए योग्य है और यह 10+2 उच्च शिक्षा के बाद स्नातकोत्तर पाठ्यक्रमों के लिए 6 वर्षीय अध्ययन तक सीमित है। यदि आवेदक निर्धारित मानदंडों को पूरा करता है, तो हर साल नए आवेदन पत्र तथा आवश्यक दस्तावेज/अंक-पत्र के साथ छात्रवृत्ति को नवीनीकृत किया जाता है। यदि विश्वविद्यालय/संस्थान से अंक-पत्र या आवश्यक दस्तावेज प्राप्त नहीं किए गए हैं, तो ऐसी स्थिति में परिशिष्ट एफ में दिए गए आवेदन पत्र को अच्छी तरह भरकर अंतिम तिथि अर्थात, 1 नवंबर से पूर्व आईएचक्यू, (एमओडी), (नौसेना) को प्रेषित किया जाना चाहिए। दस्तावेजों/प्रमाणपत्रों की प्राप्ति के तुरंत बाद इसे प्रेषित किया जा सकता है। किसी भी परिस्थिति में विलंबित आवेदन पत्र को स्वीकार नहीं किया जाएगा।  यदि किसी भी कारणवश अध्ययन के किसी भी वर्ष के दौरान छात्रवृत्ति का लाभ नहीं उठाया गया है, तो इसकी प्रतिपूर्ति आगामी वर्षों में नहीं की जा सकती है।.

स्वीकार्यता:- आईएनबीए से छात्रवृत्ति केवल निम्नलिखित के लिए स्वीकार्य है:-

  • केवल पहले दो बच्चें, भले ही परिवार में बच्चों की संख्या दो से अधिक क्यों न हो।
  • 10+2 शिक्षण पद्धति के मान्यता प्राप्त पाठ्यक्रमों में नामांकन कराने वाले बच्चें।
  • पहले नियमित प्रयास में सभी विषयों में उत्तीर्ण होने वाले बच्चें।
  • 10+2 में उत्तीर्ण होने के बाद, 31 दिसंबर तक नामांकन कराने वाले बच्चें

    छात्रवृत्ति की राशि

      • बोर्डिंग-स्कूल के छात्र (छात्रावास में रहने वाले छात्र) - 25,000 रुपये प्रति वर्ष
      • अनावासी छात्र (दिवाछात्र) - 15,000 रुपये प्रति वर्ष

        पात्रता की शर्तें:-

        (A) शैक्षणिक योग्यता

        (i)सेवारत अधिकारियों के बच्चें

        10+2 उत्तीर्ण करने के बाद स्नातक की डिग्री या समकक्ष तकनीकी/व्यावसायिक अध्ययन में नामांकन कराने वाले बच्चें।

        अथवा,

        10+2 के बाद, न्यूनतम 3 वर्ष के मान्यता प्राप्त डिप्लोमा पाठ्यक्रम या मान्यता प्राप्त स्नातकोत्तर डिप्लोमा पाठ्यक्रम में नामांकन कराने वाले बच्चें।  

        (B) आवश्यक न्यूनतम अंक (सभी विषयों का कुल योग):-

        (i) नए पुरस्कार:-

        Minimum marks for consideration
        स्तर विज्ञान वर्ग मानविकी वर्ग
        10+2 के अंक 80% 75%
        अंतिम परीक्षा 65% 65%

        उत्तीर्ण (नई छात्रवृत्ति के लिए निर्धारित प्राप्तांक प्रतिशत हासिल नहीं करने वाले बच्चें)

        ध्यान दें: यदि कोई बच्चा 10+2 स्तर के लिए निर्धारित मानदंडों को पूरा नहीं करता है, तो स्नातक के प्रथम वर्ष में उसे छात्रवृत्ति के योग्य नहीं माना जाएगा, परंतु जैसे ही वह छात्र स्नातक या स्नातकोत्तर के किसी भी स्तर/वर्ष में आवश्यक मानदंडों को पूरा करता है, तो उसे अगले शैक्षणिक वर्ष के लिए छात्रवृत्ति के योग्य माना जाएगा।

        (ii) छात्रवृत्ति की निरंतरता:- आईएनबीए से छात्रवृत्ति प्राप्त करने वाले बच्चें भी प्रत्येक वर्ष आवेदन करके छात्रवृत्ति की निरंतरता को बरकरार रख सकते हैं, परंतु ऐसे बच्चों के लिए अनुवर्ती परीक्षाओं में सभी विषयों में न्यूनतम 60% अंक हासिल करना अनिवार्य होगा। हालांकि, एमबीबीएस छात्रों के मामले में छात्रवृत्ति के नवीकरण के लिए न्यूनतम अंक 50% है।

        (ii) सेवारत नौसैनिकों के पुत्र

        10+2 उत्तीर्ण होना चाहिए और स्नातक की डिग्री या समकक्ष तकनीकी/व्यावसायिक अध्ययन में नामांकन कराना चाहिए।

        अथवा

        10+2 के बाद, किसी भी सरकारी मान्यता प्राप्त पॉलिटेक्निक/आईटीआई से न्यूनतम 50 हफ्ते अथवा इससे अधिक अवधि के डिप्लोमा पाठ्यक्रम में नामांकन कराना चाहिए।

        B) आवश्यक न्यूनतम अंक (सभी विषयों का कुल योग):

        (i) नए पुरस्कार:-

        Minimum marks for consideration
        स्तर विज्ञान वर्ग मानविकी वर्ग
        10+2 के अंक 65% 60%
        अंतिम परीक्षा 65% 60%

        उत्तीर्ण (नई छात्रवृत्ति के लिए निर्धारित प्राप्तांक प्रतिशत हासिल नहीं करने वाले बच्चें)

        ध्यान दें: यदि कोई बच्चा 10+2 स्तर के लिए निर्धारित मानदंडों को पूरा नहीं करता है, तो स्नातक के प्रथम वर्ष में उसे छात्रवृत्ति के योग्य नहीं माना जाएगा, परंतु जैसे ही वह छात्र स्नातक या स्नातकोत्तर के किसी भी स्तर/वर्ष में आवश्यक मानदंडों को पूरा करता है, तो उसे अगले शैक्षणिक वर्ष के लिए छात्रवृत्ति के योग्य माना जाएगा।

        (ii) छात्रवृत्ति की निरंतरता:- आईएनबीए से छात्रवृत्ति प्राप्त करने वाले बच्चें भी प्रत्येक वर्ष आवेदन करके छात्रवृत्ति की निरंतरता को बरकरार रख सकते हैं, परंतु ऐसे बच्चों के लिए अनुवर्ती परीक्षाओं में सभी विषयों में न्यूनतम 60% अंक हासिल करना अनिवार्य होगा। हालांकि, एमबीबीएस छात्रों के मामले में छात्रवृत्ति के नवीकरण के लिए न्यूनतम अंक 50% है।

        (C)सेवारत नौसैनिकों की पुत्री और सेवारत अधिकारियों की पुत्री, अगर वह परिवार की इकलौती संतान है

        (i) शैक्षणिक योग्यता:

        10+2 उत्तीर्ण करने के बाद मान्यता प्राप्त संस्थान से स्नातक/स्नातकोत्तर पाठ्यक्रम में नामांकन कराना अनिवार्य है।

        अथवा

        10+2 के बाद, किसी भी सरकारी मान्यता प्राप्त पॉलिटेक्निक/आईटीआई से न्यूनतम 50 हफ्ते अथवा इससे अधिक अवधि के डिप्लोमा पाठ्यक्रम में नामांकन कराना अनिवार्य है।

        (ii) आवश्यक न्यूनतम अंक

        न्यूनतम अंक निर्धारित नहीं है। पहले नियमित प्रयास में सभी विषयों में उत्तीर्ण होना आवश्यक है।

        सेवारत नौसैनिकों और सेवारत अधिकारियों की पुत्री के लिए 10वीं के बाद मेधा छात्रवृति, अगर वह परिवार की इकलौती संतान है

        (परिशिष्ट जी के अनुरूप आवेदन)

        एकमात्र संतान वाले सेवारत नौसैनिकों और सेवारत अधिकारियों की पुत्री के लिए 10वीं के बाद (XI और XII कक्षा में पढ़ने वाली लड़कियों के लिए) मेधा छात्रवृति को शैक्षणिक वर्ष 2013-14 से लागू किया गया है, जिसके अंतर्गत प्रति वर्ष 10000/- रुपये की छात्रवृत्ति दी जाती है। यह सेवारत नौसैनिकों और सेवारत अधिकारियों की पुत्री के लिए स्वीकार्य होगा, अगर वह परिवार की इकलौती संतान है। छात्रवृत्ति हेतु पात्रता मानदंडों के अनुसार, छात्रा के लिए पहले नियमित प्रयास में सभी विषयों में उत्तीर्ण होना आवश्यक है।

    Back to Top