वाइस एडमिरल अतुल कुमार जैन ने पूर्वी नौसेना कमान के फ्लैग ऑफिसर कमांडिंग-इन-चीफ का पदभार संभाला

वाइस एडमिरल अतुल कुमार जैन ने पूर्वी नौसेना कमान के फ्लैग ऑफिसर कमांडिंग-इन-चीफ का पदभार संभाला

Vice Admiral Ajit Kumar P, PVSM, AVSM, VSM

वाइस एडमिरल अतुल कुमार जैन, एवीएसएम, वीएसएम ने 30 मई 2019 को नौसेना बेस में आयोजित एक प्रभावशाली सेरेमोनियल परेड में फ्लैग ऑफिसर कमांडिंग-इन-चीफ (एफओसी-इन-सी), पूर्वी नौसेना कमान (ईएनसी) के रूप में वाइस एडमिरल करमबीर सिंह, पीवीएसएम, एवीएसएम, एडीसी से पदभार ग्रहण किया। वाइस एडमिरल जैन ने सेरेमोनियल गार्ड का निरीक्षण किया और ईएनसी के विभिन्न पोतों और प्रतिष्ठानों से लाए गए नौसेना कर्मियों के प्लाटून की समीक्षा की तथा इस समारोह में पोतों, सबमरीन और प्रतिष्ठानों के सभी फ्लैग अधिकारी और कमांडिंग अधिकारी उपस्थित थे। वाइस एडमिरल करमबीर सिंह, निवर्तमान एफओसी-इन-सी 31 मई 2019 को एडमिरल रैंक की पदोन्नति पर नौसेनाध्यक्ष के रूप में पदभार ग्रहण करेंगे।

जुलाई 1982 में भारतीय नौसेना में नियुक्त हुए, वाइस एडमिरल अतुल कुमार जैन सैनिक स्कूल रीवा, राष्ट्रीय रक्षा अकादमी (पुणे), डिफेंस सर्विसेज स्टाफ कॉलेज (वेलिंगटन), कॉलेज ऑफ नेवल वारफेयर (मुंबई) और राष्ट्रीय रक्षा कॉलेज (प्रिटोरिया, दक्षिण अफ्रीका) के पूर्व छात्र हैं। एडमिरल जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (दिल्ली) से स्नातक हैं और उन्होंने मद्रास विश्वविद्यालय से रक्षा और सामरिक अध्ययन में स्नातकोत्तर की उपाधि प्राप्त की है।

गनरी और मिसाइल विशेषज्ञ ने अपने 37 वर्ष से अधिक के उत्कृष्ट कैरियर में विभिन्न संचालनात्मक, कर्मचारी और कमान नियुक्तियां की हैं। वाइस एडमिरल जैन ने भा नौ पो निर्घट (मिसाइल बोट), भा नौ पो खुकरी (मिसाइल कार्वेट), भा नौ पो राजपूत (विनाशक) और स्वदेशी रूप से निर्मित डेस्ट्रॉयर, भा नौ पो की कमान संभाली है। उन्हें भा नौ पो ब्रह्मपुत्र के कमीशनिंग एग्जीक्यूटिव ऑफिसर और विशाखापत्तनम में ईस्टर्न फ्लीट के फ्लीट ऑपरेशन ऑफिसर होने का भी सौभाग्य प्राप्त हुआ। उनकी नियुक्तियों में डायरेक्टर नेवल इंटेलिजेंस (प्रोटोकॉल), डायरेक्टर फॉरेन लाइजन और इंटीग्रेटेड हेडक्वार्टर, रक्षा मंत्रालय (नौसेना), नई दिल्ली में प्रिंसिपल डायरेक्टर स्टाफ रिक्वायरमेंट शामिल हैं।

अक्टूबर 2011 में फ्लैग रैंक में पदोन्नति पर, उन्हें प्रथम ध्वजाधिकारी कमांडिंग कर्नाटक नौसेना क्षेत्र के रूप में नियुक्त किया गया था। इसके बाद, उन्होंने प्रतिष्ठित ईस्टर्न फ्लीट की कमान संभाली और चीफ ऑफ स्टाफ, एचक्यू, एसएनसी के रूप में भी कार्य किया। जब वे कंट्रोलर पर्सनल सर्विसेज (सीपीएस) थे, तो उन्हें 01 अप्रैल 15 को वाइस एडमिरल के पद पर पदोन्नत किया गया। ध्वजाधिकारी फरवरी 16 से दिसंबर 17 तक कर्मचारी प्रमुख, एचक्यू इएनसी के रूप पदभार संभाल रहे थे और सी-इन-सी के रूप में कार्यभार संभालने से पहले उन्होंने नई दिल्ली में इंटीग्रेटेड डिफेंस स्टाफ के एडमिरल का पदभार संभाला। उनकी विशिष्ट सेवा के लिए, उन्हें 2009 में विशिष्ट सेवा मेडल और 2015 में अति विशिष्ट सेवा मेडल से सम्मानित किया गया।

Back to Top