लक्षद्वीप और मिनीकॉय द्वीप समूह में स्वर्णिम विजय वर्ष विजय मशाल

लक्षद्वीप और मिनीकॉय द्वीप समूह में स्वर्णिम विजय वर्ष विजय मशाल

1971 युद्ध में भारतीय विजय की 50वीं वर्षगांठ मनाने के लिए, वर्ष 2021 को 'स्वर्णिम विजय वर्ष' के रूप में मनाया जा रहा है। दक्षिणी नौसेना कमान में स्वर्णिम विजय वर्ष के तहत माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा प्रज्वलित विजय मशाल को लक्षद्वीप और मिनीकॉय द्वीप समूह में ले जाया जा रहा है। यह विजय मशाल 05-14 अप्रैल 2021 तक द्वीप समूह में रहेगी। विजय मशाल 05 अप्रैल 2021 को कोच्चि में भा नौ पो सुजाता पर सवार होकर 06 अप्रैल 2021 को मिनिकॉय पहुंचेगी।

उसके बाद मशाल को क्रमशः एंड्रोथ (06 अप्रैल 2021), कवरत्ती (09 और 13 अप्रैल 2021), अमीनी, कदमत (11 अप्रैल 2021) और बितरा (12 अप्रैल 2021) द्वीप समूह ले जाया जाएगा। विजय मशाल 1971 भारत-पाक युद्ध में शामिल और इन द्वीप समूह के मूल निवासी भूतपूर्व सैनिकों के घरों में ले जाया जाएगा। विजय मशाल 14 अप्रैल 2021 को भा नौ पो कलपेनी पर सवार होकर कवरत्ती से रवाना होगी जिसके बाद इसे नेवल बेस कोच्चि को सुपुर्द कर दिया जाएगा।

  • लक्षद्वीप और मिनीकॉय द्वीप समूह में स्वर्णिम विजय वर्ष विजय मशाल
  • लक्षद्वीप और मिनीकॉय द्वीप समूह में स्वर्णिम विजय वर्ष विजय मशाल
  • लक्षद्वीप और मिनीकॉय द्वीप समूह में स्वर्णिम विजय वर्ष विजय मशाल
  • लक्षद्वीप और मिनीकॉय द्वीप समूह में स्वर्णिम विजय वर्ष विजय मशाल
  • लक्षद्वीप और मिनीकॉय द्वीप समूह में स्वर्णिम विजय वर्ष विजय मशाल
  • लक्षद्वीप और मिनीकॉय द्वीप समूह में स्वर्णिम विजय वर्ष विजय मशाल
  • लक्षद्वीप और मिनीकॉय द्वीप समूह में स्वर्णिम विजय वर्ष विजय मशाल
Back to Top