यार्ड 12706 का उद्घाटन

यार्ड 12706 का उद्घाटन

एडमिरल सुनील लांबा पीवीएसएम, एवीएसएम, एडीसी नौसेनाध्यक्ष ने 20 अप्रैल 2019 को मजगाओं डॉक शिपबिल्डर्स लिमिटेड, मुंबई में प्रॉजेक्ट 15बी, गाइडेड मिसाइल डिस्ट्रॉयर इम्फाल के तीसरे पोत का उद्घाटन किया। ये उद्घाटन भारत में स्वदेशी युद्धपोत डिज़ाइन और निर्माण कार्यक्रम के इतिहास में एक अन्य मील का पत्थर है। 3,037 के आरंभिक वज़न के साथ, इस पोत ने उद्घाटन समारोह के दौरान पूरी धूमधाम के साथ 1220 घंटे पानी के साथ अपना पहला संपर्क स्थापित किया। समुद्रीय परंपरा को कायम रखते हुए, श्रीमती रीना लांबा, नव्वा अध्यक्षा, ने पोत के आगे के भाग पर नारियल फोड़ा और अथर्व वेद के आह्वान के बीच पोत को समुद्र में उतारा।

प्रॉजेक्ट 15बी पोत अत्याधुनिक तकनीक से लैस हैं और इनकी तुलना दुनिया में इसी वर्ग के किसी भी बेहतरीन पोत से की जा सकती है। इन पोतों को नई दिल्ली स्थित भारतीय नौसेना के नेवल डिज़ाइन निदेशालय द्वारा स्वदेशी रूप से डिज़ाइन किया गया है। प्रत्येक पोत की लंबाई 163 मीटर है और बीम तक लंबाई 17.4 मीटर और विस्थापन 7,300 टन है। 30 नॉट से अधिक की गति हासिल करने के लिए इन पोतों को चार गैस टरबाइनों से चलाया जाएगा। पी15बी डिस्ट्रॉयर्स में उन्नत बचाव क्षमता, समुद्री निगरानी, स्टेल्थ और गतिशीलता के लिए नए डिज़ाइन की अवधारणाओं को शामिल किया गया है। उन्नत स्टेल्थ विशेषताओं को सुनिश्चित करने हेतु पतवार को आकार दिया गया है और राडार पारदर्शी डेक फिटिंग का इस्तेमाल किया गया है जिससे कि इन पोतों का पता लगाना कठिन होता है। पी15बी पोतों को दो बहुभूमिका वाले हेलिकॉप्टर ले जाने और चलाने के लिए लैस किया गया है।

इन पोतों में अनेक प्रकार के आधुनिक शस्त्र और सेंसर लगे हुए हैं, जिनमें बहु-कार्यात्मकता वाले सर्वेलेंस राडार और तट, समुद्र और वायु आधारित लंबी दूरी के टार्गेट्स के लिए वर्टिकल रूप से लॉन्च की जाने वाली मिसाइल प्रणाली शामिल है। पर्याप्त स्वदेशी पुर्जों के साथ, ये पोत युद्धपोत डिज़ाइन और पोत निर्माण में हमारे देश द्वारा हासिल आत्म-निर्भरता का वास्तविक प्रतीक है, और ‘मेक इन इंडिया’ सिद्धांत का शानदार उदाहरण हैं।

इस अवसर पर बोलते हुए, मुख्य अतिथि, एडमिरल सुनील लांबा ने एमडीएल, भारतीय नौसेना, डीआरडीओ, ओएफबी, बीईएल, अन्य सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों और निजी क्षेत्र के उद्योगों द्वारा इस बात को सुनिश्चित करने के लिए कि भारत के राष्ट्रीय सामरिक समुद्री उद्देश्यों को पूरा करने के लिए नौसेना के स्तरों को उपलब्ध कराया जाता हो, उनके बीच तालमेल के साथ भागीदारी की प्रशंसा की। उन्होंने इस उपलब्धि से संबंधित सभी एजेंसियों को भी बधाई दी।

  • यार्ड 12706 का उद्घाटन
  • यार्ड 12706 का उद्घाटन
  • यार्ड 12706 का उद्घाटन
  • यार्ड 12706 का उद्घाटन
  • यार्ड 12706 का उद्घाटन
  • यार्ड 12706 का उद्घाटन
  • यार्ड 12706 का उद्घाटन
  • यार्ड 12706 का उद्घाटन
  • यार्ड 12706 का उद्घाटन
  • यार्ड 12706 का उद्घाटन
Back to Top