पूर्वी तट पर चक्रवात राहत प्रयासों के लिए भारतीय नौसेना हाई अलर्ट पर

पूर्वी तट पर चक्रवात राहत प्रयासों के लिए भारतीय नौसेना हाई अलर्ट पर

अगले 12 घंटों में दक्षिण पारादीप से लगभग 1000 किमी दूर बंगाल की खाड़ी की दक्षिण पूर्वी दिशा में दबाव के तेज़ी से बढ़ने और बाद के 24 घंटों के दौरान उसके गंभीर चक्रवाती तूफान में बदलने के कारण, आवश्यक मानवीय सहायता प्रदान करने के लिए पूर्वी नौसेना कमान (ईएनसी) पूर्ण रूप से तैयार है। विशाखापत्तनम स्थित भारतीय नौसेना के पोत चिकित्सा सहायता प्रदान करने सहित मानवीय सहायता और आपदा राहत (एचएडीआर), निकासी, रसद समर्थन देने के लिए सबसे प्रभावित इलाकों में जाने के लिए स्टैंड-बाय पर हैं। इन पोतों पर अतिरिक्त गोताखोर, चिकित्सक, हवा से फूलने वाली नौकाएं और पर्याप्त मात्रा में भोजन, टेंट, कपड़ों, दवाओं, कंबल आदि सहित राहत सामग्री मौजूद है। इसके अलावा, जेमिनी नौकाओं के साथ बीस बचाव टीमें और चिकित्सा टीमें भी ओडिशा और पश्चिम बंगाल में बचाव और राहत कार्यों में सहायता के लिए तैयार रखी गई हैं। टोह, बचाव, और आवश्यकता होने पर हताहतों को निकालने के लिए विशाखापत्तनम, आंध्र प्रदेश में नौसेना स्टेशन भा नौ पो देगा और अरक्कोणम, तमिलनाडु में भा नौ पो रजली में नौसेना के विमान को भी स्टैंड बाय पर रखा गया है।

ईएनसी बंगाल की खाड़ी में होने वाले बदलावों पर करीब से नज़र रखे हुए है और नौसेना प्रभारी अधिकारी (पश्चिम बंगाल) और (ओडिशा) आवश्यकता पड़ने पर बचाव और राहत कार्यों के लिए संबंधित राज्य प्रशासनों से लगातार संपर्क बनाए हुए है।

Back to Top