नौसेना उपाध्यक्ष (वीसीएनएस)

वाइस एडमिरल जी अशोक कुमार, एवीएसएम, वीएसएम

नौसेना उपाध्यक्ष (वीसीएनएस)

वाइस एडमिरल जी अशोक कुमार, एवीएसएम, वीएसएम सैनिक स्कूल, अमरावती नगर और राष्ट्रीय रक्षा अकादमी, खडकवासला, पुणे के पूर्व छात्र हैं। 1 जुलाई 1982 को उन्हें भारतीय नौसेना की कार्यकारी शाखा में नियुक्त किया गया था।

एडमिरल ने तीन दशकों से अधिक समय के अपने विशिष्ट नौसेना कार्यकाल के दौरान कर्मचारियों एवं कमान से संबंधित विभिन्न चुनौतीपूर्ण दायित्वों का सफलतापूर्वक निर्वहन किया है। वर्ष 1989 में कोच्चि से नौ-संचालन एवं दिशा-निर्देशन में विशेषज्ञता हासिल करने के बाद, उन्होंने भारतीय नौसेना के पोतों ब्यास, नीलगिरि, रणवीर और विक्रांत के नेविगेटिंग ऑफिसर के तौर पर अपनी सेवाएं दी। उनकी समुद्रिक कार्यावधि के अंतर्गत भा नौ पो कुलिश एवं रणवीर के कमान अधिकारी और भा नौ पो ब्रह्मपुत्र पर पोत के कार्यकारी अधिकारी के रूप में नियुक्तियां शामिल हैं। समुद्रतटीय कार्यावधि के अंतर्गत उनकी महत्वपूर्ण नियुक्तियों में भारतीय नौसेना अभ्यास दल के कार्मिक अधिकारी (ऑप्स/एनडी), डिफेंस सर्विसेज स्टाफ कॉलेज, वेलिंगटन में प्रशिक्षण दल (नौसेना) के प्रमुख तथा सिंगापुर में भारतीय उच्चायुक्त के रक्षा सलाहकार शामिल हैं। वह पश्चिमी नौसेना कमान के मुख्य कार्मिक अधिकारी (संचालन) भी रहे हैं। फ्लैग रैंक में पदोन्नति के बाद उन्होंने फ्लैग ऑफिसर सी ट्रेनिंग (एफओएसटी), दक्षिणी नौसेना कमान के चीफ ऑफ स्टाफ (सीओएस) तथा फ्लैग ऑफिसर महाराष्ट्र एवं गुजरात (एफओएमएजी) के महत्वपूर्ण पदों पर कार्यभार संभाला है। वाइस एडमिरल के रैंक में वह राष्ट्रीय रक्षा अकादमी के कमांडेंट और सह-नौसेनाध्यक्ष भी रह चुके हैं।

वह डिफेंस सर्विसेज स्टाफ कॉलेज, वेलिंगटन के स्नातक हैं और महू में सेना के उच्च कमांड कोर्स में भाग लेने के अलावा वह क्वांटिको, वर्जीनिया, यूएसए में एक्सपीडिशनरी ऑपरेशंस कोर्स में भी शामिल रहे हैं।

इनकी शादी श्रीमती गीता अशोक से हुई है और इनकी दो बेटियां हैं।

Back to Top