नौसेनाध्यक्ष द्वारा पुनर्वास और सामुदायिक आउटरीच उपायों की घोषणा

नौसेनाध्यक्ष द्वारा पुनर्वास और सामुदायिक आउटरीच उपायों की घोषणा

चेयरमैन चीफ ऑफ स्टाफ कमेटी और नौसेनाध्यक्ष एडमिरल सुनील लांबा, पीवीएसएम, एवीएसएम, एडीसी ने हाल ही में केरल बाढ़ से पीड़ित लोगों के लिए राहत और पुनर्वास कार्य की समीक्षा करने के लिए एर्नाकुलम जिले के वारापुझा पंचायत में मुट्टिनकम गांव का 29 अगस्त 2018 को दौरा किया। नौसेनाध्यक्ष के साथ दक्षिणी नौसेना कमान के फ्लैग ऑफिसर कमांडिंग-इन-चीफ, वाइस एडमिरल एके चावला, एवीएसएम, एनएम, वीएसएम, नौसेना पत्नी कल्याण संघ नव्वा की अध्यक्षा, श्रीमती रीना लांबा और दक्षिणी क्षेत्र की नव्वा अध्यक्षा, श्रीमती सपना चावला उपस्थित थे। एडमिरल लांबा ने परावुर के विधायक एडवोकेट वीडी साठीसन, वाइपिन के विधायक श्री एस शर्मा, एर्नाकुलम के जिला कलेक्टर, श्री मोहम्मद सफिरुल्लाह और वारापुझा पंचायत के मुट्टिनकम गांव के सदस्यों से बातचीत की। नव्वा की ओर से लगभग 25 लाख रुपये की राहत सामग्री  नव्वा अध्यक्षा द्वारा स्थानीय  स्वयं सरकार के अधिकारियों को सौंपी गयी।

सभा को संबोधित करते हुए नौसेनाध्यक्ष ने इस बात पर जोर दिया कि वे स्वयं और नौसेना के सभी कर्मी जन्मभूमि केरल से जुड़े हुए हैं, क्योकि पूर्णतः नौसेना कर्मी बनने से पहले सभी कर्मियों को कोच्चि में एस एन सी के अधीन प्रशिक्षित किया जाता है और इस बात को दोहराया कि वे पिछले कई दिनों से इस स्थिति की निगरानी काफी निकटता से कर रहे थे और यह भी बताया कि नौसेना ने इस संकट के समय में अपने कर्मचारियों और संसाधनों को पूरी तरह से तैनात किया था तथा अब उनका ध्यान राहत गतिविधियों पर केंद्रित है।

नौसेनाध्यक्ष ने आगे कहा कि भारतीय नौसेना ने स्थानीय प्रशासन से प्राप्त सहयोग और नौसेना अधिकारियों के दौरे के आधार पर दो क्षेत्रों का चयन किया है, जिसमें इस क्षेत्र को पहले जैसा बनाने के लिए पुनर्वास के पहल को प्रस्तावित किया जा रहा है। नौसेना द्वारा पुनर्निर्माण कार्यों को करने के उद्देश्य से चुने हुए क्षेत्र वारापुझा पंचायत का मुट्टिनकम और कड़ामकुड़ी पंचायत में चेरिया कड़ामकुड़ी हैं।

मुट्टिनकम की गतिविधियों में नदी के किनारे स्थित पूर्ण रूप से क्षतिग्रस्त घर का पुनर्निर्माण, उप प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र और आंगनवाड़ी का फर्नीचर, उपकरण, खेल उपकरण और अन्य आवश्यक उपकरणों के साथ पूर्ण नवीनीकरण शामिल है।

चेरिया कड़ामकुड़ी की गतिविधियों में तीन घरों का पुनर्निर्माण, पांच अन्य घरों की छतों का नवीनीकरण, आंगनवाड़ी का निर्माण और क्षेत्र में लोगों की पेयजल की आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए प्रति दिन 10 टन रिवर्स ऑस्मोसिस (आरओ) प्लांट लगाना शामिल है (जिसका निर्माण कार्य पहले ही हो चुका है और 28 अगस्त 2018 से आम लोगों के लिए चालू कर दिया गया है)

इस मौके पर पुनर्वास किट (मुट्टिनकम के लिए 800 और चेरिया कड़ामकुड़ी के लिए 500) वितरित की गयी थी, जिसमें कपड़े, सफाई का सामान और बर्तन आदि जैसी आवश्यक वस्तुएँ शामिल थी। इसके अतिरिक्त, पिझाला द्वीप को छोटे  गांव चेरिया कड़ामकुड़ी से जोड़ने वाले पुल के निर्माण सहित कुछ अन्य आवश्यकताओं पर भी विचार किया जाएगा तथा संभाव्यता की जांच की जाएगी।

नौसेनाध्यक्ष ने एस एन सी को नौसेना की तरफ से पुनर्वास गतिविधियों को समन्वयित करने का निर्देश दिया है। नौसेनाध्यक्ष 30 अगस्त 2018 को केरल के माननीय मुख्यमंत्री से मुलाकात भी करेंगे और इस स्थिति से निपटने के लिए नौसेना की और से आवश्यक सहायता पर विचार विमर्श करेंगे। नौसेनाध्यक्ष नौसेना के कर्मियों के वेतन से स्वैच्छिक योगदान के रूप में मुख्यमंत्री आपदा राहत कोष में 8.9 करोड़ रुपये का चेक भी देंगे।

  • नौसेनाध्यक्ष द्वारा पुनर्वास और सामुदायिक आउटरीच उपायों की घोषणा
  • नौसेनाध्यक्ष द्वारा पुनर्वास और सामुदायिक आउटरीच उपायों की घोषणा
  • नौसेनाध्यक्ष द्वारा पुनर्वास और सामुदायिक आउटरीच उपायों की घोषणा
  • नौसेनाध्यक्ष द्वारा पुनर्वास और सामुदायिक आउटरीच उपायों की घोषणा
  • नौसेनाध्यक्ष द्वारा पुनर्वास और सामुदायिक आउटरीच उपायों की घोषणा
  • नौसेनाध्यक्ष द्वारा पुनर्वास और सामुदायिक आउटरीच उपायों की घोषणा
  • नौसेनाध्यक्ष द्वारा पुनर्वास और सामुदायिक आउटरीच उपायों की घोषणा
  • http://india.gov.in, The National Portal of India : External website that opens in a new window
  • Ministry of Defence, Government of India : External website that opens in a new window
  • My Government, Government of India : External website that opens in a new window
  • https://gandhi.gov.in, Gandhi : External website that opens in a new window
Back to Top