नसीम-अल-बहर 2016 के लिए - ओमान नौसेना के जहाजों का आगमन

नसीम-अल-बहर 2016 के लिए - ओमान नौसेना के जहाजों का आगमन

भारतीय नौसेना तथा ओमान की शाही नौसेना की ओर से अरब सागर में गोवा के पास 22 से 27 जनवरी 16 के बीच द्विपक्षीय समुद्रिक अभ्यास 'नसीम-अल-बहर' का आयोजन किया जा रहा है। 'नसीम-अल-बहर' की शुरुआत वर्ष 1993 में की गई थी जो दोनों देशों के बीच मजबूत दीर्घकालिक सामरिक संबंधों का प्रतीक है। कार्यक्षेत्र की जटिलता, संक्रियात्मक जटिलता और भागीदारी के स्तर के साथ बीते वर्षों में इस अभ्यास की परिपक्वता में वृद्धि हुई है। मौजूदा अभ्यास इसका दसवां संस्करण है।

 

नसीम-अल-बहर 2016 के लिए - ओमान नौसेना के जहाजों का आगमन

आरएनओवी कार्वेट अल-शमिख

इस अभ्यास का मुख्य उद्देश्य दोनों देशों की नौसेनाओं के बीच अन्तरसंक्रियता को बढ़ावा देना तथा समुद्रिक सुरक्षा संचालन के लिए सामान्य समझ और प्रक्रियाओं का विकास करना है। नसीम-अल-बहर के दायरे में गोवा के बंदरगाह चरण के दौरान दोनों नौसेनाओं के बीच वृहद स्तरीय पेशेवर वार्ता तथा समुद्रिक संक्रियाओं के सभी क्षेत्रों को शामिल करते हुए समुद्र में विविधतापूर्ण परिचालनात्मक गतिविधियों को शामिल किया गया है।

नसीम-अल-बहर 2016 के लिए - ओमान नौसेना के जहाजों का आगमन

आरएनओवी का तेज हमलावर जलपोत अल-सीब

अभ्यास में भारतीय नौसेना के दो जहाज आईएनएस त्रिकाण्ड और आईएनएस त्रिशूल हिस्सा लेंगे। इसके अलावा तेज हमलावर जलपोत, समुद्रिक गश्ती हवाई जहाज और हेलीकॉप्टर भी इसमें हिस्सा लेंगे। ओमान की शाही नौसेना का प्रतिनिधित्व जलपोत आरएनओवी अल-शमिख और तेज हमलावर जलपोत आरएनओवी अल-सीब करेंगे। 22 जनवरी 16 की सुबह आरएनओ के जहाजों का आगमन हुआ और ये फ़रवरी 16 की शुरुआत में विशाखापट्टनम में आईएफआर-16 में भी भाग लेंगे। गौरतलब है कि भारत के किसी मित्र राष्ट्र की ओर से आईएफआर-16 में भाग लेने के लिए आने वाला यह पहला विदेशी जहाज है।
 

नसीम-अल-बहर 2016 के लिए - ओमान नौसेना के जहाजों का आगमन

रियर एडमिरल पुनीत के बहल, एफओजीए और आने वाले जहाज के कमांडिंग ऑफिसर

यह अभ्यास दो चरणों में होगा। पहला चरण गोवा बंदरगाह पर (22-24 जनवरी 16) आयोजित किया जाएगा जबकि दूसरा चरण गोवा के तट से दूर समुद्र में (24-27 जनवरी 16) आयोजित किया जाएगा। बंदरगाह पर होने वाले अभ्यास में पेशेवर स्तर की वार्ता, दोनों देशों के नौसैनिकों की आपसी मुलाकात, सामाजिक और खेल आदान-प्रदान तथा सम्मेलनों का आयोजन होगा। समुद्री अभ्यास के दौरान नौचालन एवं नौकानयन के विकास, सतह पर गोलीबारी, सैन्यबलों की सुरक्षा एवं समुद्री लूटपाट रोधी अभ्यास के साथ-साथ उड़ान संचालन भी किया जाएगा। इस अभ्यास का उद्देश्य एक-दूसरे के अनुभवों और सर्वोत्तम अभ्यासों को साझा करने से आपसी लाभ प्राप्त करना है। इस प्रकार के अभ्यासों के परिणामस्वरूप वर्षों में हासिल की गई अन्तरसंक्रियता, दोनों के लिए संक्रियात्मक रूप से लाभप्रद साबित हुई है।

 

नसीम-अल-बहर 2016 के लिए - ओमान नौसेना के जहाजों का आगमन

रियर एडमिरल पुनीत के बहल, एफओजीए और आने वाले जहाज के कमांडिंग ऑफिसरs

यह अभ्यास, दोनों देशों की नौसेनाओं के बीच समुद्रिक सुरक्षा सहयोग को मजबूत करने तथा दोनों देशों के बीच के दीर्घकालिक संबंधों को सुदृढ़ बनाने की दिशा में मील का पत्थर साबित होगा। दोनों देशों की नौसेनाओं के बीच आपसी सहयोग का विकास, समुद्रिक स्थायित्व को बेहतर बनाने के लिए दोनों देशों की प्रतिबद्धता का वास्तविक प्रमाण है।

 

नसीम-अल-बहर 2016 के लिए - ओमान नौसेना के जहाजों का आगमन

 

नसीम-अल-बहर 2016 के लिए - ओमान नौसेना के जहाजों का आगमन

 

नसीम-अल-बहर 2016 के लिए - ओमान नौसेना के जहाजों का आगमन

 

नसीम-अल-बहर 2016 के लिए - ओमान नौसेना के जहाजों का आगमन

 

नसीम-अल-बहर 2016 के लिए - ओमान नौसेना के जहाजों का आगमन

 

नसीम-अल-बहर 2016 के लिए - ओमान नौसेना के जहाजों का आगमन

 

नसीम-अल-बहर 2016 के लिए - ओमान नौसेना के जहाजों का आगमन

 

नसीम-अल-बहर 2016 के लिए - ओमान नौसेना के जहाजों का आगमन

 

नसीम-अल-बहर 2016 के लिए - ओमान नौसेना के जहाजों का आगमन

 

नसीम-अल-बहर 2016 के लिए - ओमान नौसेना के जहाजों का आगमन

 

नसीम-अल-बहर 2016 के लिए - ओमान नौसेना के जहाजों का आगमन

 

नसीम-अल-बहर 2016 के लिए - ओमान नौसेना के जहाजों का आगमन

 

नसीम-अल-बहर 2016 के लिए - ओमान नौसेना के जहाजों का आगमन

 

नसीम-अल-बहर 2016 के लिए - ओमान नौसेना के जहाजों का आगमन

 

नसीम-अल-बहर 2016 के लिए - ओमान नौसेना के जहाजों का आगमन

 

नसीम-अल-बहर 2016 के लिए - ओमान नौसेना के जहाजों का आगमन

 

नसीम-अल-बहर 2016 के लिए - ओमान नौसेना के जहाजों का आगमन

 

नसीम-अल-बहर 2016 के लिए - ओमान नौसेना के जहाजों का आगमन

 

नसीम-अल-बहर 2016 के लिए - ओमान नौसेना के जहाजों का आगमन

Back to Top