चौथी स्कोर्पीन श्रेणी की पनडुब्बी - वेला का शुभारंभ

चौथी स्कोर्पीन श्रेणी की पनडुब्बी - वेला का शुभारंभ

वेला, चौथी स्कोर्पीन श्रेणी की पनडुब्बी जिसका निर्माण मजगांव डॉक शिपबिल्डर्स लिमिटेड द्वारा भारतीय नौसेना के लिए किया जा रहा है, उसका शुभारंभ 06 मई 2019 को कार्यक्रम के मुख्य अतिथि डॉ. अजय कुमार, आईएएस, सचिव रक्षा उत्पादन की पत्नी श्रीमती वीना अजय कुमार द्वारा किया गया। वाइस एडमिरल ए के सक्सेना, सीडब्लूपीएंडए भी इस उद्घाटन समारोह में उपस्थित थे। यह कार्यक्रम वर्तमान में चल रहे 'मेक इन इंडिया' कार्यक्रम में मजगांव डॉक शिपबिल्डर्स लिमिटेड (एमडीएल) द्वारा उठाए गए क़दमों की पुष्टि करता है, जिसे रक्षा उत्पादन विभाग द्वारा सक्रिय रूप से क्रियांवित किया जा रहा है।

इस पनडुब्बी को पोंटून से अलग करने के लिए, मुंबई पोर्ट ट्रस्ट पर खींच के ले जाया गया, जिसके बाद भारतीय नौसेना को सौंपने से पहले बंदरगाह और समुद्र दोनों में उसे कठोर ट्रायल्स और परीक्षणों से गुज़रना होगा।

छह स्कोर्पीन श्रेणी की पनडुब्बियों के निर्माण और तकनीक के हस्तांतरण का अनुबंध 'सहयोगी' के रूप में फ्रांस के मैसर्स नेवल ग्रुप (अतीत में डीसीएनएस) के साथ किया गया है और जिसे एमडीएल द्वारा बनाया जा रहा है।

एमडीएल के चेयरमैन और प्रबंध निदेशक कोमोडोर राकेश आनंद ने इस अवसर पर कहा कि 20 अप्रैल 2019 को पी15 बी डिस्ट्रॉयर 'इम्फाल' का शुभारंभ और 06 मई को 2019 को वेला का शुभारंभ इस वर्ष अभी तक एमडीएल के लिए कुछ प्रमुख घटनाओं में से एक है।

वर्तमान में, आठ युद्धपोतों और पांच पनडुब्बियों का निर्माण एमडीएल में किया जा रहा है। एमडीएल भारत के अग्रणी शिपयार्ड्स में से एक है जिसके पास भारतीय नौसेना की आवश्यकताओं को पूरा करने की क्षमता है।

पनडुब्बियों की स्कोर्पीन श्रेणी किसी भी आधुनिक पनडुब्बी द्वारा आमतौर पर किए जाने वाले विविध कार्य कर सकती है जिसमें सतह रोधी के साथ-साथ पनडुब्बी रोधी युद्ध शामिल है। तकनीक के हस्तांतरण में भारत में पनडुब्बी निर्माण, एकीकरण और परीक्षण के क्षेत्र में एमडीएल को नेवल ग्रुप द्वारा तकनीक का उचित समर्थन शामिल है जिसे सूचना प्रणाली के माध्यम से एमडीएल को तकनीकी डेटा पैकेज के हस्तांतरण और साथ-साथ महत्वपूर्ण तकनीकों के ऊपर एमडीएल के कर्मचारियों को नौकरी के दौरान प्रशिक्षण द्वारा हासिल किया जाता है।

अनुभव और स्कोर्पीन परियोजना की तकनीक के हस्तांतरण का फायदा उठाते हुए, परिष्कृत और उन्नत बुनियादी ढांचे के साथ, एमडीएल भविष्य में पनडुब्बी निर्माण के कार्य की जिम्मेदारी उठाने को तैयार है।

  • चौथी स्कोर्पीन श्रेणी की पनडुब्बी - वेला का शुभारंभ
  • चौथी स्कोर्पीन श्रेणी की पनडुब्बी - वेला का शुभारंभ
  • चौथी स्कोर्पीन श्रेणी की पनडुब्बी - वेला का शुभारंभ
  • चौथी स्कोर्पीन श्रेणी की पनडुब्बी - वेला का शुभारंभ
  • चौथी स्कोर्पीन श्रेणी की पनडुब्बी - वेला का शुभारंभ
  • http://india.gov.in, The National Portal of India : External website that opens in a new window
  • Ministry of Defence, Government of India : External website that opens in a new window
  • My Government, Government of India : External website that opens in a new window
  • https://www.indiainvestmentgrid.com : External website that opens in a new window
  • https://gandhi.gov.in, Gandhi : External website that opens in a new window
  • STQC_logo
Back to Top