एयरबॉर्न टेकटीशियन नौसेना की वायु सेवा में शामिल

एयरबॉर्न टेकटीशियन नौसेना की वायु सेवा में शामिल

भा नौ पो गरुड़, कोच्चि में 05 अप्रैल 2021 को आयोजित शानदार पासिंग परेड में भारतीय नौसेना के ग्यारह अधिकारियों और भारतीय तटरक्षक बल के दो अधिकारियों ने ऑब्जर्वर के तौर पर स्नातक की उपाधि प्राप्त की। रियर एडमिरल राजेश पेंधारकर, एवीएसएम, वीएसएम, फ्लैग ऑफिसर सी ट्रेनिंग (एफ़ओएसटी) ने परेड की समीक्षा की और सफल अधिकारियों को प्रतिष्ठित 'गोल्डन विंग्ज़' दे कर सम्मानित किया।

92वें रेगुलर के अधिकारियों को हवाई नेविगेशन, उड़ान प्रक्रियाओं, हवाई युद्ध में अपनाई जाने वाली रणनीतियों, पनडुब्बी-रोधी युद्ध और हवाई एवियोनिक प्रणालियों के उपयोग में प्रशिक्षित किया गया। ये अधिकारी भारतीय नौसेना और भारतीय तटरक्षक बल के समुद्री टोही और पनडुब्बी-रोधी युद्ध विमान पर सेवा करेंगे।

रेगुलर ऑब्जर्वर के लेफ्टिनेंट अंकुश कुमार यादव को 'ओवरऑल ऑर्डर ऑफ मेरिट में पहला स्थान' प्राप्त करने पर उत्तर प्रदेश ट्रॉफी से सम्मानित किया गया जबकि ­लेफ्टिनेंट रविंदर नैन को 'बेस्ट इन फ्लाइंग' घोषित किए जाने पर फ्लैग ऑफिसर कमांडिंग-इन-चीफ, ईस्टर्न नेवल कमांड ट्रॉफी से सम्मानित किया गया। सहायक कमांडेंट अंकुर सिंह पवार्क को 'बेस्ट इन ग्राउंड सबजेक्ट्स' घोषित किए जाने पर सब ­लेफ्टिनेंट आर.वी. कुंते मेमोरियल बुक प्राइज़ से सम्मानित किया गया।

इस अवसर पर भारतीय नौसेना के 04 अधिकारियों ने क्वालिफाइड नेविगेशन इंस्ट्रक्टर्स (क्यूएनआई) के रूप में स्नातक की उपाधि प्राप्त की। क्यूएनआई को ज़मीन पर और हवा में अनुदेशात्मक तकनीकों की जानकारी देने के लिए प्रशिक्षित किया गया था। उन्हें रणनीतियों और सेंसर उपयोग की गहन जानकारी प्रदान की गई थी। ये अधिकारी विभिन्न सीमावर्ती नौसेना वायु स्क्वाड्रनों में परिचालन नियुक्तियों पर जाने से पहले क्वालिफाइड नेविगेशन इंस्ट्रक्टर के तौर पर कार्य करेंगे। सफल क्यूएनआई को एफ़ओएसटी द्वारा 'इंस्ट्रक्टर टॉर्च' से भी सम्मानित किया गया।

  • एयरबॉर्न टेकटीशियन नौसेना की वायु सेवा में शामिल
  • एयरबॉर्न टेकटीशियन नौसेना की वायु सेवा में शामिल
  • एयरबॉर्न टेकटीशियन नौसेना की वायु सेवा में शामिल
Back to Top