आईएनएस सतपुड़ा का पोह्न्पेई, माइक्रोनेशिया दौरा

आईएनएस सतपुड़ा का पोह्न्पेई, माइक्रोनेशिया दौरा

हिंद-प्रशांत क्षेत्र में शांति एवं समृद्धि के प्रति भारत की प्रतिबद्धता तथा इस क्षेत्र में भारतीय नौसेना की उपस्थिति एवं संक्रियात्मक पहुंच के दायरे के विस्तार को निरूपित करने के लिए भारतीय नौसेना के पोत, आईएनएस सतपुड़ा ने 18 अगस्त, 16 को दो दिवसीय यात्रा पर पोह्न्पेई, माइक्रोनेशिया में प्रवेश किया। यह यात्रा पश्चिमी प्रशांत क्षेत्र में के परिनियोजन का एक भाग है, जिसका उद्देश्य संक्रियात्मक कार्यों को बेहतर बनाना है।

आईएनएस सतपुड़ा का पोह्न्पेई, माइक्रोनेशिया दौरा

दक्षिण-दक्षिण सहयोग की भावना तथा संयुक्त राष्ट्र के लघु द्वीप विकासशील देशों (एसआईडीएस) के मंच के माध्यम से भारत तथा संघीकृत राज्य माइक्रोनेशिया के बीच द्विपक्षीय संबंधों का विकास हुआ है। इसके अलावा भारत, भारतीय तकनीकी एवं आर्थिक सहयोग कार्यक्रम (आईटीईसी) के जरिए द्वीप राष्ट्र के क्षमता निर्माण एवं मानव संसाधन विकास कार्यों में भी संलग्न है। भारत प्रशांत द्वीप समूह मंचों के साथ नियमित संवाद भी करता है, जिसका संघीकृत राज्य माइक्रोनेशिया एक सदस्य है। मौजूदा यात्रा किसी भारतीय पोत की पहली यात्रा है, जिसका उद्देश्य बढ़ते द्विपक्षीय संबंधों को बेहतर बनाने का प्रयास करना तथा भारत और संघीकृत राज्य माइक्रोनेशिया के बीच के घनिष्ठ संबंधों को रेखांकित करना है।

आईएनएस सतपुड़ा का पोह्न्पेई, माइक्रोनेशिया दौरा

वाणिज्यिक गोदी पोह्न्पेई के समीप

इस यात्रा के दौरान, दोनों देशों के बीच सहयोग को बढ़ाने के लिए भारतीय नौसेना कर्मी वहां के समुद्रिक निगरानी संभाग के साथ पेशेवर स्तर की वार्ता करेंगे। दोनों देशों के बीच संबंधों एवं आपसी समझ को मजबूत बनाने के उद्देश्य से सरकार एवं सेना के वरिष्ठ अधिकारियों के मुलाकात के साथ-साथ खेल एवं सांस्कृतिक गतिविधियों की योजना भी बनाई गई है। इस पोत की अगुवाई कमान अधिकारी, कैप्टन ए. एन. प्रमोद कर रहे हैं, जिन्हें भारतीय नौसेना के पेशेवर एवं अति उत्साहित कर्मियों की सहायता प्राप्त है।

यह पोत विश्व के सबसे बड़े बहुपक्षीय नौसैनिक अभ्यास रिमपैक- 16 में भाग लेने के बाद भारत की ओर अग्रसर है, जिसका आयोजन अमेरिकी नौसेना कर ओर से हर दूसरे वर्ष हवाई तट के पास किया जाता है।

 

Back to Top