आईएनएस रणवीर ने ईस्टर्न फ्लीट बोट पुलिंग रेगट्टा जीता

आईएनएस रणवीर ने ईस्टर्न फ्लीट बोट पुलिंग रेगट्टा जीता

आईएनएस रणवीर ने ईस्टर्न फ्लीट बोट पुलिंग रेगट्टा जीता


ईस्टर्न फ्लीट पुलिंग रेगट्टा का आयोजन 9 जनवरी 16 को विशाखापत्तनम के नौसेना डॉकयार्ड में किया गया था। कुल 14 दलों के पांच श्रेणियों अर्थात् बेस्ट व्हेलर, ऑफिसर, सीनियर सेलर, जूनियर सेलर और टू मेन कयाक ने 1.3 किमी की दौड़ पूरी की। नौसेना उप प्रमुख सतीश सोनी, पीवीएसएम, एवीएसएम, एनएम, एडीसी, फ्लैग ऑफिसर कमांडिंग-इन-चीफ, पूर्वी नौसेना कमांड इस अवसर पर मुख्य अतिथि थे, उन्होंने उपस्थित नौसेना कर्मियों की बड़ी सभा के सामने विजेताओं और उपविजेता को पुरस्कार प्रदान किया।

आईएनएस रणवीर ने ईस्टर्न फ्लीट बोट पुलिंग रेगट्टा जीता

पुलिंग रेगट्टा बेहद प्रतिस्पर्धी 'व्हेलर' नाव दौड़ है जिसमें जीत प्राप्त करने के लिए लड़ने की इच्छा के साथ-साथ शारीरिक और मानसिक अनुप्रयोग, समूह में कार्य, सहयोग और कड़ी मेहनत का उच्चतम मानक देखा जा सकता है। 'व्हेलर' 27 फुट लंबी नाव है जिसे 17 फुट लंबी पतवार का उपयोग करके 'पुलर्स' नामक पांच मजबूत शरीर वाले व्यक्तियों द्वारा चलाई जाती है और काकसेन द्वारा दिशा दिखाई जाती है। ऐतिहासिक रूप से, पतवार से किनारे पर खींच कर लाना पुराने ज़माने के प्रेरक शक्ति के बारे में बताता है। खींचने वाला रेगट्टा नाविक के महत्व को जोर देकर बताने का तरीका है और एक साथ खींचने का गुण सद्भाव को बताने का तरीका है। आधुनिक समुद्र में चल रहे भाईचारे के लिए, यह समूह के काम, उत्साह, सहयोग और 'जोश' को दर्शाता है।

आईएनएस रणवीर ने इस प्रतिष्ठित प्रतियोगिता में सबसे प्रतिष्ठित 'कॉक ट्रॉफी' जीता। जीतने वाली पोत को अगले रेगट्टा तक कॉक शिप कहा जाएगा। मुख्य अतिथि ने सभा को संबोधित करते हुए जबरदस्त भावना के लिए सभी को बधाई दी और उन्हें याद दिलाया कि एक साथ चलना नौसेना का प्रतीक है। उन्होंने नौसेना के जीवन में खेल और शारीरिक फिटनेस के महत्व को भी रेखांकित किया।

Back to Top